रविवार सुबह इतने बजे से लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, इन बातों का रखें खास ध्यान

रविवार यानी कि 21 जून को साल 2020 का पहला सूर्यग्रहण लगने जा रहा हैं। ये सूर्यग्रहण चूड़ामणि रूप में दिखाई देगा। और इस ग्रहण का सूतक आज रात यानी शनिवार 20 जून को 12:10 मिनट से शुरू हो जाएगा। साल 2020 का पहला सूर्यग्रहण भारत सहित नेपाल, पाकिस्तान, सऊदी अरब, यूऐई, एथोपिया तथा कोंगों में दिखाई देगा। भारत में देहरादून, सिरसा और टिहरी कुछ ऐसे प्रसिद्ध शहर हैं जहां वलयाकार सूर्य ग्रहण दिखेगा और देश के बाकी हिस्सों में आंशिक सूर्य ग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा। 

2020 me surya grahan kab lagega


क्या होता है सूर्यग्रहण 


सुर्य की परिक्रमा पृथ्वी करती है ठीक उसी तरह चंद्रमा पृथ्वी की परिक्रमा करता हैं। जब ऐसा संयोग बनता है की पृथ्वी और सूर्य के बीच चंद्रमा आ जाता है इस स्थिति को सूर्य ग्रहण कहा जाता हैं। 

भारत मे कब लगेगा सूर्यग्रहण 


साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण रविवार 21 जून की सुबह 9:15 से शुरू होगा और दोपहर की 3:04 बजे तक रहेगा। सूर्य ग्रहण चूड़ामणि (फायर रिंग) के रूप में दिखाई देगा। ये सूर्य ग्रहण भारत सहित  सऊदी अरब, पाकिस्तान, यूएई नेपाल सहित इथोपिया में भी दिखाई देगा। 

सूर्य ग्रहण से जुड़े फैक्ट्स - 


  • ग्रीक इतिहासकार हेरोडोटस के अनुसार, 585 ईसा पूर्व में एक सूर्य ग्रहण की वजह से लिडियन और मेड्स के बीच युद्ध रुक गया। दोनों पक्षों ने दिन मेँ अंधेरे आसमान को एक दूसरे के साथ शांति बनाने के संकेत के रूप में देखा।


  • सूर्यग्रहण क्यों होता है, पहले इस बात के पुख्ता सबूत नही थे। मगर सन 1609 मेँ खगोल विज्ञानी जोहान्स केपलर ने पहली बार सूर्यग्रहण का पूर्ण वैज्ञानिक विवरण दिया।


  • भारत में धारणा है कि ग्रहण के दौरान पका हुआ भोजन दूषित हो जाता है, लेकिन भारत के खगोलशास्त्री इससे सहमत नहीं हैं। उनके अनुसार यह केवल भ्रांति है।


  • 1973 में वैज्ञानिकों ने कॉनकार्ड विमान में अपने उपकरणों के साथ ग्रहण पट्टी पर ग्रहण का तीन हजार किमी तक पीछा किया था और लगभग 72 मिनट तक ग्रहण का अध्ययन किया था।


  • इतिहासकारों और खगोलविदों के अनुसार 22 अक्टूबर, 2134 ई.पू. यानि आज से 4153 साल पहले प्राचीन चीन मेँ लगने वाला सूर्य ग्रहण मानव इतिहास में दर्ज़ पहला सूर्य ग्रहण था।


सूर्य ग्रहण में इन बातों का रखे खास ध्यान 


  1. बच्चों से लेकर वयस्कों तक किसी को भी नंगी आंखों से सूर्य ग्रहण को नही देखना चाहिए। इसके लिए सोलर फिल्टर वाले चश्में का उपयोग करें। 
  2. एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार सूर्य ग्रहण के समय कार या कोई अन्य वाहन नही चलाना चाहिए। 
  3. हालांकि अगर कोई ग्रहण के दौरान सफर में है तो उसे अपनी कार ही हेड लाइट जला लेनी चाहिए साथ ही अन्य गाड़ियों से समान दूरी रखनी चाहिए। 
  4. बच्चों को सूर्य ग्रहण दिखाने से पहले उनकी आंखों के लिए सोलर फिल्टर वाले चश्में का इंतजार जरूर कर लें। 
  5. इसके अलावा घर पर किसी अन्य चश्में (जो सोलर फिल्टर से न बने हो) या एक्स रे या किसी अन्य चीज के जरिये सूर्य ग्रहण देखने की कोशिश न करें इससे आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता हैं। 


कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.