भारत और पाकिस्तान के बीच हुए सबसे रोमांचक मैच की कहानी

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match scorecard

क्रिकेट के खेल में समय के साथ काफी बदलाव हुए है। आज कोई भी टीम 400 से 450 रन का भी स्कोर बड़ी आसानी के साथ पार पा लेती है। लेकिन कुछ सालों पहले तक 300 रन का भी स्कोर किसी पहाड़ से कम नही माना जाता था। 

लेकिन 2004 में भारत और पाकिस्तान की टीम के बीच एक ऐसा मैच हुआ। जो आज भी क्रिकेट के इतिहास के सबसे रोमांचक मैच में गिना जाता है। 

ये भी पढ़ें :- विराट कोहली की कप्तानी में भारत के हाथों सबसे ज्यादा टेस्ट मैच हारने वाली टीमें


बात है साल 2004 की टीम इंडिया पाकिस्तान के दौरे पर थी दौरे पर 3 टेस्ट और 5 वनडे मैच की सीरीज होनी थी। 

शुरुआत वनडे सीरीज से हुई सीरीज का पहला मुकाबला कराची में खेला गया। पाकिस्तान की टीम के कप्तान इंजमाम उल हक थे। इधर भारतीय टीम दादा सौरव गांगुली के नेतृत्व में उतरी थी। 

ये क्रिकेट सीरीज भारत और पाकिस्तान के राजनैतिक रिश्तों के लिए भी काफी अहम थी। क्योंकि भारतीय टीम 7 साल के बाद पाकिस्तान की धरती पर द्विपक्षीय सीरीज के लिए गयी थी। 

इसके साथ ही टीम इंडिया को पाकिस्तान को उसी के घर पर हराने का मिशन भी पूरा करना था। जो कि बीते 6 द्विपक्षीय सीरीज में भारत नही कर पाया था। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match


तो चलिए मैच पर वापस आते है। भारत-पाकिस्तान का सबसे रोमांचक मैच के मुद्दें पर, 13 मार्च 2004, शनिवार का दिन था। पिच बल्लेबाजी के लिए अनुकूल था। अंदाजा लगाया जा रहा था टॉस जीतने वाली टीम बल्लेबाजी चुनेगी। 

पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम उल हक टॉस जीतने में सफल रहे लेकिन उन्होंने चौकाने वाला फैसला किया और पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

टीम इंडिया की तरफ से सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग ओपनर बल्लेबाज थे। सहवाग और सचिन ने मिलकर पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। 

शुरुआती 5 ओवर में भारत का स्कोर 45 रन तक पहुँच गया था। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

इसके बाद पाकिस्तान की दिशाहीन गेंदबाजी का फायदा दोनो ही ओपनर ने काफी जमकर उठाया और अगले 9 ओवर में 91 रन जड़ दिए यानी कि 14 ओवर तक भारतीय टीम के दोनो ओपनर 136 रन स्कोर बोर्ड पर लगा चुके थे। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

अनुमानित स्कोर के अनुसार भारत उसी रन रेट से 486 का स्कोर खड़ा कर सकता था। 

हालांकि 142 के स्कोर तक सचिन तेंदुलकर (28) और वीरेंद्र सहवाग (79) पवेलियन लौट चुके थे। 

ये भी पढ़ें :- T20 World Cup में सबसे ज्यादा मैच जीतने वाली TOP-5 टीमें


राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने रन रेट को कायम रखा और लगभग 25 ओवर में भारतीय टीम 200 का आंकड़ा पार कर चुकी थी। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

लेकिन 27वें ओवर में सौरव गांगुली (45) के आउट होने के बाद भारत का रन रेट काफी तेजी से नीचे गिर गया। 

25 से 40 ओवर के बीच यानी बीच के 15 ओवर में टीम इंडिया सिर्फ 70 रन ही जुटा पाई थी। हालांकि आखरी 10 ओवरों में द्रविड़ और मोहम्मद काफी ने भारत के रन रेट को फिर से बूस्ट किया। 

45 ओवर तक भारत 4 विकेट खोकर 324 रन बना चुका था। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

इसी दौरान राहुल द्रविड़ भी ऐतिहासिक शतक के काफी करीब पहुँच चुके थे। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

द्रविड़ को अपना शतक पूरा करने के लिए महज एक रन की जरूरत थी तभी शोएब अख्तर की धीमी यॉर्कर गेंद सटीक निशाने पर गिरी और द्रविड़ 99 के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi scorecard

द्रविड़ के आउट होने के बाद भारत ने 7 विकेट खोकर निर्धारित 50 ओवर में 349 रन बनाएं थे। उस समय पाकिस्तान को उस मैच को जीतने के लिए वनडे क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर चैस करना था। 

ऐसी रही पाकिस्तान की बल्लेबाजी 


India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

पाकिस्तान की तुलना में भारतीय तेज गेंदबाजों ने शुरुआती ओवर में काफी अच्छा प्रदर्शन किया। लगभग 8वें ओवर के दौरान ही पाकिस्तान के दोनो ओपनर इमरान फरहत और यासिर हमीद पवेलियन जा चुके थे। 

10 ओवर तक पाकिस्तान का स्कोर सिर्फ 40 रन का था। 

इसके बाद कप्तान इंजमाम उल हक ने मोहम्मद यूसुफ के साथ मिलकर मोर्चा संभला और पाकिस्तान के स्कोर को आगे बढ़ाते चले गए। 

ये भी पढ़ें :- इन 3 मौकों पर वनडे Cricket में बने है 800 से भी अधिक रन


तीसरे विकेट के लिए इंजमाम उल हक और मोहम्मद यूसुफ के बीच 134 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी बनी। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

इस खतरनाक पार्टनरशिप का अंत वीरेंद्र सहवाग की गेंद पर हुआ जब सहवाग ने मोहम्मद यूसुफ को सब्सिट्यूट इरफान पठान के हाथों 73 के स्कोर पर कैच आउट कराया। 

India vs pakistan 2004 samsung cup


हालांकि इंजमाम उल हक एक छोर से क्रीज पर डटे रहे और पाकिस्तान को जीत के करीब ले जाते रहे। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

जो लक्ष्य शुरू में पाकिस्तान के लिए लगभग असंभव सा था अब पाकिस्तान उस लक्ष्य को पाने के करीब पहुँचता जा रहा था। अब समीकरण बदल चुका था। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

लेकिन एक बार फिर मैच में रोमांच मोड़ आया। जब पाकिस्तान को 47 गेंदों में 72 रन चाहिए थे तब स्पिनर मुरली कार्तिक ने कप्तान इंजमाम उल हक को 122 के स्कोर पर आउट कर टीम इंडिया को राहत की सांस दी। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match


इसके बाद 45वें ओवर में खतरनाक दिख रहे यूनुस खान भी मुरली कार्तिक की गेंद पर 46 के स्कोर पर क्लीन बोल्ड हुए। 

हालांकि अब भी पाकिस्तान जीत के करीब था। क्योंकि पाकिस्तान को 32 गेंदों ने सिर्फ 45 रन की दरकार थी और पाकिस्तान के हाथों में 5 विकेट थे। 

जिसमें शोएब मलिक और अब्दुल रज़्ज़ाक जैसे खिलाड़ी शामिल थे। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

अब्दुल रज़्ज़ाक ने अपने चित परिचित अंदाज में सिर्फ 16 गेंद खेलकर 27 रन जड़ दिए हालांकि रज़्ज़ाक की इस पारी पर जहीर खान ने अंकुश लगाया। 

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

जब पाकिस्तान को जीत के लिए 8 गेंदों में 10 रन चाहिए थे। तब मोहम्मद कैफ ने अविश्वसनीय कैच लपककर शोएब मलिक को भी पवेलियन का रास्ता दिखाया। 

अब मैच के आखरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 9 रन की दरकार थी। इस समय जो टीम दबाव को सही ढंग से संभालती उस टीम को जीत मिल जाती। 

ये भी पढ़ें :- IPL या PSL में से किसमे ऑफ द मैच को मिलती है सबसे ज्यादा रकम


आखरी ओवर की 6 गेंदे आशीष नेहरा को डालनी थी। बल्लेबाजी के लिए राणा नावेद और मोइन खान क्रीज पर थे। पहली 3 गेंदों में सिर्फ 1 रन ही आया। अब बची 3 गेंदों पर 8 रन की जरूरत थी। 

Javed miandad six

2 गेंदों में 2 रन और आएं अब यहां से पाकिस्तान को मैच जीतने के लिए आखरी गेंद पर जावेद मियांदाद की तरह छक्का लगाकर भारत के मुँह से जीत छीननी थी।  

India vs pakistan 2004 samsung cup 1st odi match

लेकिन इस बार स्ट्राइक पर मोइन खान थे। नेहरा की गेंद पर मोइन ने बल्ला चलाया और गेंद हवा में उठी लेकिन इस बार सीधे जहीर खान के हाथों में जा गिरी और इस तरह भारत 5 विकेट से ये ऐतिहासिक मैच जीत गया। 

Inzmam ul haq man of the match

हालांकि पाकिस्तान की तरफ से 122 रन की जूझारू पारी खेलने के लिए कप्तान इंजमाम उल हक को मैन ऑफ द मैच चुना गया। 

उम्मीद करते है कि आपको भारत पाकिस्तान का सबसे रोमांचक मैच के बारे में जानकर काफी मज़ा आया होगा। इस पोस्ट को अपने दोस्त और फैमिली मेंबर्स के साथ भी शेयर करें। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Close Menu